दुनिया world

Pakistan News: पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज शरीफ की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती – nawaz sharif platelet count critically low hospitalised

पूर्व पाकिस्तानी पीएम नवाज शरीफ अस्पताल में भर्ती
हाइलाइट्स

  • जेल में बंद पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज शरीफ को तबीयत बिगड़ने के बाद अस्पताल में भर्ती किया गया
  • नवाज शरीफ का प्लेटलेट काउंट बहुत कम हो गया था, जिसके बाद लाहौर के सर्विस अस्पताल ले जाया गया
  • डॉक्टरों की एक टीम कर रही है शरीफ का इलाज, भाई शाहबाज बोले- कुछ हुआ तो इमरान होंगे जिम्मेदार

लाहौर

जेल में बंद पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज शरीफ की तबीयत खराब होने के बाद उन्हें सोमवार रात को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 3 बार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री रह चुके नवाज शरीफ का प्लेटलेट काउंट बहुत ही कम हो गया था जिसके बाद डॉक्टरों ने उन्हें तत्काल अस्पताल में भर्ती कराने की सलाह दी थी।

नवाज शरीफ के पर्सनल फीजिशन डॉक्टर अदनान खान ने सोमवार को ट्वीट कर बताया, ‘पूर्व पीएम नवाज शरीफ का प्लेटलेट काउंट काफी कम (16*10^9/L) हो गया है और उन्हें तत्काल अस्पताल में भर्ती कराने की जरूरत है।’ उन्होंने कहा कि वह संबंधित अधिकारियों से तत्काल हरकत में आने की गुजारिश कर चुके हैं।

डॉक्टर खान ने कहा कि वह शरीफ (69) से लाहौर के नैशनल अकाउंटेबिलिटी ब्यूरो (NAB) दफ्तर में मिले और वह काफी बीमार दिख रहे थे। उन्होंने कहा, ‘उन्हें (नवाज शरीफ) कई तरह की गंभीर और जानलेवा स्वास्थ्य समस्याएं हैं। मामला बेहद अर्जेंसी का है और उन्हें भर्ती कराया जाना चाहिए।’

NAB के एक प्रवक्ता ने बताया कि शरीफ को सर्विस हॉस्पिचल में भर्ती कराया गया है और डॉक्टरों की एक टीम उनका अच्छे से इलाज कर रही है। उन्होंने बताया कि हो सकता है कि सोमवार की पूरी रात शरीफ अस्पताल में भर्ती रहें।

विपक्षी पीएमएल-एन के अध्यक्ष और नवाज शरीफ के भाई शाहबाज शरीफ ने आरोप लगाया है कि उनके बड़े भाई की खराब हो रही सेहत के बावजूद उन्हें पहले अस्पताल में भर्ती नहीं कराया गया। उन्होंने कहा कि अगर नवाज शरीफ को कुछ होता है तो प्रधानमंत्री इमरान खान जिम्मेदार होंगे। शरीफ अल अजीजिया करप्शन केस में 7 साल की सजा काट रहे हैं।

NBT

Source link

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close
%d bloggers like this: