मनोरंजन entertainment

50 से ज्यादा फिल्में करने के बाद भी इस गलती के चलते कभी हीरो नहीं बन पाए दीपक तिजोरी | Deepak Tijori did more than 50 movies with shahrukh aamir salman but never recognized | entertainment – News in Hindi

50 से ज्यादा फिल्में करने के बाद भी इस गलती के चलते कभी 'हीरो' नहीं बन पाए दीपक तिजोरी

दीपक तिजोरी हमेशा साइड रोल ही करते रहे.

News18Hindi

Updated: August 16, 2019, 1:41 PM IST

दीपक तिजोरी (Deepak Tijori) बॉलीवुड इंडस्ट्री के एक ऐसे कलाकार का नाम है, जिसने एक के बाद एक लगातार शानदार फिल्मों में काम किया. एक तरफ उन्होंने सनी देओल के साथ ‘क्रोध’ की तो दूसरी तरफ राहुल राय के साथ ‘आशिकी’. इन सुपरडुपर हिट फिल्मों तक ही उनका कारवा रुका नहीं, उन्होंने ‘जो जीता वही सिकंदर’ में आमिर खान के बरक्स जबर्दस्त किरदार निभाया. ‘खिलाड़ी, गुलाम, बादशाह, कभी हां कभी ना’ जैसी फिल्में भी उनकी कलाकारी से सजी फिल्में हैं, लेकिन इसके बाद भी वे कभी फिल्म के मुख्य हीरो की भूमिका में नहीं आ पाए. असल में माना जाता है कि दीपक तिजोरी ने कभी दूसरी भूमिका को ठुकरा कर मुख्य भूमिका की मांग ही नहीं कर पाए.

ऐसा कहा जाता है कि उन्होंने अपने करियर में फिल्मों का चयन बहुत ही सूझ-बूझ के साथ किया. उनकी चुनी गईं कई फिल्मों ने आमिर खान, शाहरुख खान, सैफ अली खान, अक्षय कुमार जैसे कलाकारों को शीर्ष पहुंचा गईं. लेकिन दीपक तिजोरी वही के वही खड़े रहे और एक समय के बाद उन्हें भाई, दोस्त जैसे किरदार भी मिलना बंद हो गए. माना जाता है कि उन्होंने कभी अपने लिए मुख्य रोल को लेकर किसी निर्माता-निर्देशक के सामने अड़ नहीं पाए. अगर कुछ फिल्में मिली भी तो इतने छोटे बजट की कि दर्शकों तक पहुंच ही नहीं पाईं.

आमिर-शाहरुख-सैफ-अक्षय के साये ही बने रहे
दीपक तिजोरी हमेशा फिल्मों में हीरो के बरक्स भूमिकाएं चुनते रहे. फिल्मों में जमकर काम करते रहे. कई बार उनके अ‌भिनय की सराहना हुई. लेकिन फिल्म के हिट होने पर उसका सारा श्रेय आमिर खान, शाहरुख खान, अक्षय कुमार और सैफ अली खान जैसे अभिनेता ले लेते. इन्हीं वजहों से उन्हें ब‌िग बॉस के पहले ही सीजन में बुलाया गया. लेकिन यहां भी वे कोई कमाल नहीं कर पाए. बाद में ऑडियंस को उनमें वो स्पार्क नहीं नजर आया.

Deepak 3

शाहरुख खान के साथ दीपक तिजोरी

दीपक ने साल 1988 में ‘तेरा नाम मेरा नाम’ से अपने करियर की शुरुआत की थी. उनकी आखिरी बड़ी फिल्म पिछले साल आई तिग्मांशु धूलिया की ‘साहेब बीवी और गैंगस्टर 3’ रही. लेकिन सही कहें तो दीपक तिजोरी की आखिरी हिट फिल्म साल 1998 में आई ‘बादशाह’ ही थी. इसके बाद से करीब 20 सालों में उन्होंने 20 से ज्यादा फिल्में की हैं, लेकिन एक ने भी बॉक्स ऑफिस पर या फिर आलोचकों के मन में जगह बनाने में कामयाब नहीं हो सकी हैं.

Deepak 2

इस फिल्म की मुख्य भूमिका में हो सकते थे दीपक तिजोरी.

साल 1994 में आई ‘मैं खिलाड़ी तू अनाड़ी’ की. इस फिल्म में सैफ अली खान और अक्षय कुमार लीड रोल में थे. ये एक मल्टी स्टारर फिल्म थी इसलिए यहां उनके लिए एक अच्छा मौका हो सकता था. उन्हें सैफ का रोल ऑफर हो सकता था. लेकिन उनकी इमेज उनपर भारी पड़ गई. जब ‘मैं खिलाड़ी तू अनाड़ी’ के लिए हीरो की तलाश हुई होगी तो फिल्म के लिए अक्षय कुमार और सैफ अली खान को फाइनल कर लिया गया. उस वक्त तक सैफ अपनी जगह बनाने में कामयाब हो चुके थे. अगर उस वक्त दीपक तिजोरी की इमेज साइड हीरो वाली ना होती तो आज दीपक भी टॉप लीग में शामिल होती.

Deepak 4

जो जीता वही सिकंदर का एक दृश्य

दीपक की साइड हीरो वाली इमेज की बड़ी वजह ये है कि उन्होंने अपने डेब्यू के बाद लगातार फिल्मों में साइड हीरो वाले रोल किए. चाहे आशिकी हो या कभी हां कभी ना या बात करें बादशाह की हर जगह दीपक साइड हीरो के तौर पर याद आते हैं. उनकी इसी बात ने उन्हें हीरो नहीं बनने दिया.

यह भी पढ़ेंः राखी सावंत ने गलती से शेयर कर दी पति की तस्वीर, हनीमून पर दिखे


First published: August 16, 2019, 1:41 PM IST




Source link

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close
%d bloggers like this: